After becoming PM again Modi is coming to Bihar to inaugurate Nalanda University

फिर से मोदी पीएम बनने के बाद नालंदा विश्वविद्यालय का उद्घटन करने आ रहे है बिहार

कल यानी की 19 जून को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी नालंदा विश्वविद्यालय का उद्घाटन करने बिहार आ रहे है । इस कार्यक्रम में 17 देशों के मिशन प्रमुख भी भाग ले रहे है। 455 एकड़ में नालंदा विश्वविद्यालय की स्थापना की गई है इस परिसर के सम्मेलन में मुख्यमंत्री और राज्यपाल भी भाग ले रहें है। नालंदा विश्वविद्यालय विद्यालय बिहार का सबसे पुराना और ऐतिहासिक विद्यालय में से एक है।

नालंदा विश्वविद्यालय में लगभग 1600 वर्ष पहले बढ़े – बढ़े देश से शिक्षा ग्रहण करने आते थे। 216 ईस्वी के समय नालंदा को यूनाइटेड नेशन ने विश्व धरोहर स्थल की घोसना की थी। प्रधान मंत्री 19 जून को 9:45 मिनट में नालंदा विश्वविद्यालय की दौरा करेंगे। उसके बाद नालंदा विश्वविद्यालय परिसर का औपचारिक उद्घाटन भी प्रधान मंत्री के हाथ से होगी।

नालंदा विश्वविद्यालय भारत और पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन देशों के साथ हुए सम्मेलन के आधार पर विकसित किया गया था। बताया जा रहा है की 17 देशों के मिशन प्रमुख भी इस सम्मेलन में भाग लेंगे और बिहार के राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ और बिहार के मुख्य मंत्री श्री नीतीश कुमार मोदी के साथ रहेंगे। परिसर को अलग अलग परंपरागत और आधुनिक कला के सहयोग से बनाया जा रहा है।

नालंदा विश्व विद्यालय 455 एकड़ में फैला हुआ है जिसमे से 100 एकड़ में जलासय फैला हुआ है इसलिए इस परिसर को कार्बन न्यूट्रल के नाम से जाना जाता है। इस वजह से नालंदा विश्वविद्यालय परिसर की खूब प्रसंशा हो रही है। नालंदा विश्वविद्यालय के परिसर का काम पिछले 6 साल से चल रही है बताया जा रहा कि इसका पहला शैक्षणिक सत्र 2014 में बौद्ध तीर्थ नगरी राजगीर में अंतराष्ट्रीय कंवेशन सेंटर में शुरू हुई थी उस समय इसका उद्घाटन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने की थी।

इस विश्व विद्यालय में बड़े बड़े देशों से पढ़ने आयेंगे और पढ़ाने के लिए भी शिक्षक बड़े बड़े देशों से आयेंगे जिससे इस विश्व विद्यालय और भारत का गौरव बढ़ेगा और दूसरे देशों से पढ़ने और पढ़ाने आयेंगे इसलिए इस विश्व विद्यालय के परिसर में हर तरह के आधारभूत संरचना के विकास पर ध्यान दिया जा रहा है। परिसर में दो शैक्षणिक खंड है। इसमें 40 कक्ष है जिसमें 300 – 300 सीटें मौजूद है। करीब 550 छात्र छात्राओं के लिए छात्रावास भी है। ताकि पढ़ने के साथ साथ रहने में भी कोई दिक्कत ना हो।

Telegram LinkClick Here
Home Page Link Click Here

Leave a Comment